home page

जानिए कौन हैं डॉ विकास? सीता मैया पर भद्दा कमेंट करने के बाद हो रहे हैं ट्रोल

 | 
dr vikas

सोशल मीडिया पर इन दिनों डॉ विकास दिव्यकीर्ति गलत कारणों से छाए हुए हैं. दरअसल यूपीएससी की तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के बीच डॉ विकास एक जाना-माना नाम हैं. हालाँकि इन दिनों डॉ विकास एक विवाद में फंस गए हैं. दरअसल यूपीएससी कोचिंग सेंटर दृष्टि आईएएस के डॉ विकास दिव्यकीर्ति के वायरल हो रहे एक वीडियो में सीता मैया की तुलना ‘कुत्ते के चाटे हुए घी’ कर करते हुए नजर आ रहे हैं. जिसके बाद से उनकी सोशल मीडिया में खूब आलोचना हो रही हैं.


 

डॉ विकास की विडियो वायरल होने के बाद सोशल मीडिया वेबसाइट ट्विटर पर कोचिंग सेंटर दृष्टि आईएएस को बंद करने की मांग की जा रही है. दरअसल लोगों ने ट्वीट करते हुए कहा कि माता सीता पर आपत्तिजनक कमेंट से उनकी धार्मिक भावना आहत हुई हैं. आज इस लेख में जानेगे कि डॉ विकास कौन हैं और उन्होंने कब अपने कोचिंग सेंटर की शुरुआत की थी?.

विडियो प्लेटफार्म यूट्यूब पर एजुकेशनल वीडियो देखने लोगों के लिए दृष्टि आईएएस विडियो नई नहीं हैं. बता दे यूपीएससी की तैयारी करने वाले छात्रों के लिए दृष्टि आईएएस एक मशहूर कोचिंग सेंटर है. इसी सेंटर में डॉ विकास दिव्यकीर्ति नाम का के टीचर हैं. दिल्ली में स्थित इस सेंटर के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्टर भी विकास दिव्यकीर्ति हैं. बीतें 2 दशक में उन्होंने एक स्टार जैसा स्टेटस बनाया है. बेहद कम लोग दिव्यकीर्ति के बारे में जानते होंगे कि वह एक समय आईएएस ऑफिसर थे लेकिन उन्होंने आईएएस की नौकरी छोड़कर 1999 में खुद का कोचिंग सेंटर खोलने का फैसला किया.

dr. vikas

डॉ विकास की पर्सनल लाइफ की करे तो उनका जन्म हरियाणा के मिडल क्लास परिवार में 26 दिसंबर 1973 को हुआ था. बताया जाता हैं कि विकास बचपन से ही एक होनहार छात्र थे और उनके माता-पिता दोनों ही हिंदी साहित्य के प्रोफेसर थे. यही कारण हैं कि बेहद छोटी उम्र से ही दिव्यकीर्ति को हिंदी से खास लगाव रहा है.

डॉ विकास ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से बीए किया. जिसके बाद हिंदी साहित्य से लगाव होने कारण उन्होंने हिंदी में एमए
, एमफिल और फिर पीएचडी की. इसके बाद भी वह नहीं रुके और उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी और भारतीय विद्या भवन से इंग्लिश से हिंदी अनुवाद में पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री भी हासिल की है.