home page

चहल को क्यों नहीं मिली T20 WC 2022 की प्लेइंग XI में जगह? दिनेश कार्तिक ने दिया जवाब

 | 
chahal karthik

आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2022 के सुपर 12 में टीम इंडिया ने जबरदस्त प्रदर्शन किया था लेकिन सेमी फाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ मिली शर्मनाक हार के बाद इंडियन क्रिकेट में हडकंप मच गया था. कप्तान रोहित शर्मा ने टूर्नामेंट में ऐसे कई फैसले लिए. जिस पर कई सवाल खड़े किये गए थे.

टी20 वर्ल्ड कप 2022 की शुरुआत से पहले युजवेंद्र चहल टीम इंडिया के सबसे प्रमुख स्पिनर थे लेकिन हैरानी वाली बात ये रही कि पूरे टूर्नामेंट में उन्हें एक भी मैच नहीं खिलाया गया. जिसके बाद कई क्रिकेट एक्सपर्ट्स ने चहल को प्लेइंग इलेवन में मौका न देने पर रोहित को खूब खरी-खोटी सुनाई थी.

Chahal

इसके आलावा हर्षल पटेल को भी वर्ल्ड कप 2022 के लिए टीम इंडिया की प्रमुख टीम में चुना गया था लेकिन जसप्रीत बुमराह के स्थान पर टीम में शामिल किये गए मोहम्मद शमी को उनसे पहले प्लेइंग इलेवन में चुना गया. जिसके बाद लोगों ने ये सवाल उठाये थे कि हर्षल जब पहले से ही टीम का हिस्सा थे तो शमी को क्यों मौके मिले. बता दे हर्षल को पूरे टूर्नामेंट में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था.

कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ की लगातार आलोचनाओं के बीच दिनेश कार्तिक ने खुलासा किया हैं कि चहल और हर्षल को शुरुआत में भी ये बात बता गयी थी कि उन्हें प्लेइंग इलेवन में तब ही मौका मिलेगा जब स्थिति उनके अनुकूल होगी. यही कारण हैं कि उन्हें पूरे टूर्नामेंट में सिर्फ बाहर ही बैठना पड़ा.

kartik

क्रिकबज से बातचीत के दौरान दिनेश कार्तिक ने बताया, “वे एक बार भी नाराज या परेशान नहीं हुए क्योंकि वे शुरू से ही आश्वस्त थे. टूर्नामेंट की शुरुआत में उन्हें बताया गया था कि इन परिस्थितियों में आपको खिलाना मुश्किल हो सकता है. इसलिए वे इस बारे में अवेयर थे. वे टूर्नामेंट के दौरान इस तरह से तैयारी कर रहे थे कि अवसर मिलने पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेंगे.”

दिनेश कार्तिक ने आगे कप्तान रोहित और कोच राहुल द्रविड़ का बचाव करते हुए कहा, “यही कारण हैं कि जब कोच और कप्तान की ओर से यह स्पष्टता होती है तो यह खिलाड़ी के लिए काम को काफी आसान बना देता है क्योंकि आप सिर्फ अपने भीतर देखना शुरू करते हैं और सोचते हैं कि अच्छे  से तैयारी शुरू करने के लिए मैं क्या-क्या करूं. बेंच पर बैठे खिलाडी यही कर रहे थे और अगर उन्हें अवसर दिया जाता तो वे अपना सर्वश्रेष्ठ देते.”