home page

पंचतत्व में विलीन हुए सिद्धांत सूर्यवंशी.. बेटी डीजा ने दी मुखाग्नि, इमोशनल कर देगी फोटोज

 | 
siddhaanth surryavanshi

‘कुसुम’ और ‘कसौटी जिंदगी की’ जैसे टीवी सीरियल्स से लोकप्रियता हासिल करने वाले अभिनेता सिद्धांत सूर्यवंशी का आज मुंबई में अंतिम संस्कार किया गया. इससे पहले शुक्रवार(11 नवम्बर) को उनका दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. शनिवार को सिद्धांत की बेटी डीजा ने अपने पिता को अग्नि देकर अंतिम विदाई दी.

बता दे 46 साल के सिद्धांत सूर्यवंशी टीवी जगत का एक जाना-माना नाम थे. आज मुंबई में उन्हें अंतिम विदाई दी गई. जिसमें सभी रीती रिवाज़ उनकी बेटी डीजा द्वारा निभाई गई. इसके आलावा उनके अंतिम संस्कार में पत्नी एलेशिया राउत भी नजर आई. पिता को अंतिम विदाई देने के दौरान बेटी डीजा की कुछ फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं जोकि सभी को बेहद इमोशनल कर रही हैं. अंतिम संस्कार से पहले मुंबई में सिद्धांत के घर टीवी इंडस्ट्री के कई सेलेब्स उनके अंतिम दर्शन के लिए पहुंचे थे.

इससे पहले शुक्रवार दोपहर टीवी एक्टर सिद्धांत वीर सूर्यवंशी के अचानक निधन की खबर से टीवी इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई थी. बताया जा रहा हैं ये दिवंगत एक्टर अपने पीछे पत्नी एलेशिया और 2 बच्चें छोड़कर गए हैं. बताया जा रहा हैं कि सिद्धांत की अंतिम विदाई में उनकी पहली और डीजा की माँ इरा भी शामिल हुई हैं. बता दे सिद्धांत और उनकी पहली पत्नी इरा की एक बेटी डीजा हैं जबकि एलेशिया से उनके एक बेटा हैं हालंकि अब ये एक्टर सभी को छोड़कर इस दुनिया से जा चूका हैं.

शनिवार को एक्टर सिद्धांत के अंतिम संस्कार में कई सेलेब्स शामिल हुए और सभी उनके निधन से काफी दुखी और हैरान थे. सिद्धांत के करीबी दोस्त और एक्टर सिंपल कौल ने कहा कि ‘सिद्धांत के साथ जो हुआ उस पर भरोसा नहीं हो रहा हैं.’

सिंपल ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत के दौरान सिद्धांत के हार्ट अटैक के बारे में खुलकर बात की और बताया, कि ‘सिद्धांत जिम में था और एक्सरसाइज कर रहा था. जिम आने से पहले ही उसकी तबियत कुछ खराब थी, उसने मुझे खुद बताया था कि उसकी तबियत थोड़ी ख़राब लग रही थी और उसने अपने एक दोस्त वर्कआउट करने से भी मना किया था. इसके बाद वह ट्रेनर से बातचीत करने के बाद जिम चले गए फिर बेंच प्रेस करने के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा जिससे वो जमीन पर गिर पड़े. इसके बाद उन्हें कोकिला बेन अस्पताल में भर्ती किया हालाँकि डॉक्टर उन्हें बचा नहीं पाए.”