home page

जानिए कितनी संपत्ति के मालिक हैं पोपटलाल

पोपटलाल का असली नाम श्याम पाठक है. वह एक भारतीय टेलीविजन अभिनेता और कॉमेडी अभिनेता हैं. वह लोकप्रिय टेलीविजन धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा में पत्रकार पोपटलाल पांडे की भूमिका निभाने के लिए जाने जाते हैं. शो में पोपटलाल अंतरराष्ट्रीय तूफ़ान एक्सप्रेस के लिए गोल्डन क्रो अवार्ड विजेता वरिष्ठ रिपोर्टर के रूप में अपनी
 | 
जानिए कितनी संपत्ति के मालिक हैं पोपटलाल


पोपटलाल का असली नाम श्याम पाठक है. वह एक भारतीय टेलीविजन अभिनेता और कॉमेडी अभिनेता हैं. वह लोकप्रिय टेलीविजन धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा में पत्रकार पोपटलाल पांडे की भूमिका निभाने के लिए जाने जाते हैं.

शो में पोपटलाल अंतरराष्ट्रीय तूफ़ान एक्सप्रेस के लिए गोल्डन क्रो अवार्ड विजेता वरिष्ठ रिपोर्टर के रूप में अपनी जबरदस्त कॉमेडी भूमिका के लिए बहुत लोकप्रिय हैं. वह हमेशा शादी के लिए लड़की ढूंढता रहता है लेकिन उसकी शादी फिर भी नहीं होती है.

सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में पोपटलाल का किरदार अपने छाते और कंजूसपन के लिए काफी मशहूर है. लेकिन श्याम पाठक अपनी निजी जिंदगी में पहले से शादीशुदा हैं और उनके तीन खूबसूरत बच्चे हैं. इसके आलावा कमाई के मामलें में भी वह काफी आगे हैं. आज इस लेख में हम उनकी नेट वर्थ जानेगे.

श्याम पाठक की नेट वर्थ
whatinsider.com की रिपोर्ट के अनुसार 2021 तक पोपटलाल की कुल संपत्ति 1.5 मिलियन डॉलर आंकी गई है. श्याम अपना अधिकांश पैसा टीवी धारावाहिकों और विज्ञापनों के माध्यम से कमाते हैं. वहीं, तारक मेहता का उल्टा चश्मा के हर एपिसोड के लिए वह करीब ₹60,000 से ₹70,000 तक चार्ज कर रहे हैं. पोपटलाल के पास लग्जरी कार भी है.

हाल ही में उन्होंने एक खूबसूरत मर्सिडीज कार और करीब 55 लाख रुपये की टोयोटा इनोवा क्रिस्टा कार खरीदी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनके पास करीब 15 करोड़ रुपये की संपत्ति भी है.

श्याम पाठक की पर्सनल लाइफ
श्याम पाठक का जन्म 6 जून 1976 को गुजरात, भारत में एक मध्यमवर्गीय हिंदू परिवार में हुआ था. उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा गुजराती माध्यम के स्कूल में पूरी की. बाद में उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंट ऑफ इंडिया में एडमिशन लिया, लेकिन अभिनय में रुचि के कारण, उन्होंने बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी और फिर नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में शामिल हो गए.

जब श्याम राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय में पढ़ रहा था, तब उसकी मुलाकात रेशमी से हुई जो उस समय उसकी सहपाठी थी. जल्द ही वे दोनों दोस्त बन गए और फिर दोस्ती प्यार में बदल गई.

कुछ महीनों के बाद दोनों ने अपने परिवार को बताए बिना शादी करने का फैसला कर लिया. पहले तो दोनों परिवार के सदस्यों ने उनकी शादी को स्वीकार नहीं किया, लेकिन कुछ महीनों के बाद उनके परिवारों ने उन्हें स्वीकार कर लिया. आज श्याम और रेशमी की एक बेटी और दो बेटे हैं. उनकी बेटी का नाम नियति और बेटे का नाम पार्थ पाठक है. जबकि उनके छोटे बेटे का नाम शिवम पाठक है.