home page

कन्यादान के लिए शहीद जवान की बेटी ने डीएम को लिखा पत्र, जानिए फिर जिलाधिकारी ने क्या किया

सभी हिन्दुस्तानी अपने देश की सेना पर गर्व करते हैं. हालाँकि कई बार स्थिति ऐसी हो जाती हैं जब हमारे जाबाज जवान देश के लिए अपनी जान भी कुर्बान कर देते हैं. साल 2018 में जम्मू में तैनात उत्तरप्रदेश, देवरिया का रहने वाला एक बीएसएफ जवान शहीद हो गया. जिसके बाद शहीद जवान की बेटी
 | 
कन्यादान के लिए शहीद जवान की बेटी ने डीएम को लिखा पत्र, जानिए फिर जिलाधिकारी ने क्या किया

सभी हिन्दुस्तानी अपने देश की सेना पर गर्व करते हैं. हालाँकि कई बार स्थिति ऐसी हो जाती हैं जब हमारे जाबाज जवान देश के लिए अपनी जान भी कुर्बान कर देते हैं. साल 2018 में जम्मू में तैनात उत्तरप्रदेश, देवरिया का रहने वाला एक बीएसएफ जवान शहीद हो गया.

जिसके बाद शहीद जवान की बेटी ने अपनी शादी में कन्यादान के लिए जिले के डीएम को पत्र लिख दिया और जिलाधिकारी भी लड़की को आर्शीवाद देने के लिए शादी में शामिल हुए.
कन्यादान के लिए शहीद जवान की बेटी ने डीएम को लिखा पत्र, जानिए फिर जिलाधिकारी ने क्या किया
यह मामला उत्तरप्रदेश के देवरिया का है जहाँ सलमेपुर मझौली के निवासी अजय कुमार रावत बीएसएफ में 88वीं बटालियन में कॉन्स्टेबल थे और जम्मू उधमपुर में बीएसएफ जवान के रूप में कार्यरत थे. लेकिन वह ड्यूटी के दौरान 25 अगस्त 2018 को शहीद हो गए थे.

पिता के शहीद होने के लगभग दो साल बाद जवान की तीसरी बेटी शिवानी ने शादी की थी. जिस दौरान शिवानी ने पत्र लिखकर जिलाधिकारी अमित किशोर को अपना कन्यादान करने की इच्छा जताई. डीएम ने भी उन्हें निराश नहीं किया और उनके निमंत्रण को स्वीकार कर लिया और अपनी पत्नी के साथ बेटी को आशीर्वाद देने पहुंच गए.कन्यादान के लिए शहीद जवान की बेटी ने डीएम को लिखा पत्र, जानिए फिर जिलाधिकारी ने क्या किया

जिलाधिकारी अमित किशोर ने कहा, कि “शिवानी के पिता बीएसएफ जवान थे और शिवानी चाहती थी कि मैं उसकी शादी में पहुंचकर उसका कन्यादान करूँ, जिसके लिए उसने मुझे एक पत्र लिखकर भेजा था.”

आगे डीएम ने बताया, “यदि जिले में किसी भी आर्मी, एयरफोर्स, पैरामिलिटरी के जवान या उसके परिवार वालों को किसी भी तरह की परेशानी होती है तो जिलाधिकारी को उनके परिवार की रक्षा करनी होती हैं, तो मैं उसी कर्तव्य को निभाने शादी में पंहुचा था और आगे भी यदि किसी को मेरी ज़रुरत होगी तो मैं खुले तौर पर मदद के लिए हमेशा साथ खड़ा रहूँगा.”